Mp Board 11th Hindi ardvarshik pariksha 2022

Mp Board 11th Hindi ardvarshik pariksha 2022| कक्षा-11वी हिंदी अर्धवार्षिक परीक्षा 2022,23

JOIN

Class 11 Hindi half yearly paper 2022 Pdf- एमपी बोर्ड की अर्द्धवार्षिक परीक्षा 1 दिसम्बर से आरम्भ होकर 8 दिसंबर तक चलने वाली है| कक्षा-11वीं विषय हिन्दी अर्धवार्षिक परीक्षा 2022 के महत्वपूर्ण प्रश्न को डाउनलोड भी कर सकते हैं

Ardhvarshik pariksha class 11th hindi solution 2022

अर्धवार्षिक परीक्षा 2022, 23

कक्षा – 11वीं
विषय –  हिंदी
पूर्णांक – 80

निर्देश :-
सभी प्रश्नों को हल करना अनिवार्य है
संपूर्ण पेपर 80 अंक का होगा
प्रत्येक प्रश्न के लिए विकल्प दिए गए हैं

विद्यार्थी उत्तर पुस्तिका को साफ एवं सूथरा लिखें

प्रश्न 01- रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए

1) पंत को प्रकृति का सुकुमार कवि कहा जाता है।
2) बचपन से मोहन कुशाग्र बुद्धि का था।

3) लता जी की लोकप्रियता का मुख्य मार्ग उनका गानपन है।

4) रस के चार अंग है।

5) माधुर्यता का शुद्ध शब्द माधुर्य है।

6) महावीर प्रसाद द्विवेदी लेखक द्विवेदी युग है।

7) ‘कुल सचिव’ का तकनीकी शब्द रजिस्ट्रार है।

प्रश्न 02- सही विकल्प का चयन कर लिखिए

1) मीराबाई की भाषा मूलतः थी –
उत्तर – राजस्थानी

2) पंडित अलोपीदीन ने मुंशी वंशीधर को पद पर नियुक्त किया था –

उत्तर – मैनेजर की

3) कुई की खुदाई की जाती है –

उत्तर – बसौली से

4) ऑल इंडिया रेडियो की स्थापना हुई थी –

उत्तर – सन् 1936 में

5) इनमें से महाकाव्य है –

उत्तर – रामचरितमानस

6) हरिवंश राय बच्चन के साहित्य में कविता का विशेष गुण पाया जाता है –

उत्तर – संवेदनशीलता और सहजता

Class 11 half yearly 2022

प्रश्न 03 – एक शब्द / वाक्य में उत्तर दीजिए –
(i) आदिवासियों में क्या पीने की बुरी लत बढ़ती जा रही है ?
उत्तर – मदिरा

(ii) भारत माता पाठ के लेखक का नाम लिखिए ?
उत्तर – जवाहरलाल नेहरू

(iii) जो कम बोलता हो उसे क्या कहते हैं ?
उत्तर – मिथभाषी

(iv) मोहन को घर में भैंस का दूध पिलाई यह वाक्य शुद्ध कीजिए ?
उत्तर – मोहन को भैंस का गर्म दूध पिलाई है।

(v) पतन पाप पाखंड जले पंक्ति में कौन सा अलंकार है ?
उत्तर – वृत्यानुप्रास अलं

(vi) ‘छंद’ में कितने गुण होते हैं ?

उत्तर – 8
(vii) नई कविता के कवि का नाम क्या है ?
उत्तर – नरेश मेहता

प्रश्न 04- सही जोड़ी बनाइए –

प्रश्न 05 – सत्य या असत्य बताइए —

(i) कमीज न होने पर लोग अपने पैरों से पेट ढंक लेते हैं।
उत्तर – सत्य

(ii) जामुन का पेड़ कहानी विधा है।
उत्तर – सत्य

(iii) वैदिक काल में संगीत के चार प्रकारों का उल्लेख है।

उत्तर – असत्य

(iv) निरक्षर लोगों के लिए समाचार पत्र एक सशक्त माध्यम है।

उत्तर – सत्य

(v) पूर्ण विराम का प्रयोग किसी कथन के पूर्ण होने पर किया जाता है।

उत्तर – सत्य

(vi) जैनेंद्र कुमार को भारत सरकार द्वारा पदम् भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

उत्तर – सत्य

Mp Board 11th hindi half yearly important Questions 2022 PDF Download

प्रश्न 06 – कबीर ने अपने आपको दीवाना क्यों कहा है ?

उत्तर – यहां दीवाना शब्द का अर्थ पागल है किसी के प्रेम में डूबा हुआ व्यक्ति दीवाना कहलाता है कबीर भी प्रभु की भक्ति में लीन है जबकि लोग बाहरी आडंबर ओं में उलझ कर ईश्वर को खोज रहे हैं अतः कबीर अपने आपको दीवाना कहता है।

लोग मीरा को बाबरी क्यों कहते हैं ?

उत्तर – लोग मेरा को बावरी कहते हैं क्योंकि मेरा प्रभु श्री कृष्ण के प्रेम में डूबी हुई रहती है।

प्रश्न 07 – कभी भवानी प्रसाद मिश्र अपनी वास्तविक स्थिति को पिता से क्यों छुपाना चाहते हैं ?

उत्तर –  कवि अपनी वास्तविक स्थिति के बारे में पिता से इसलिए छुपाना चाहता था ताकि उसके पिता जेल में स्थित अपने पांचवे बेटे की याद में रो कर परेशान ना हो

दरख्तों का साया और धूप क्रमशाह किसके प्रतीक हैं ?

उत्तर –
प्रश्न 08 – भक्तिन अपना वास्तविक नाम लोगों से क्यों छुपाती थी ? भक्तिन को यह नाम किसने और क्यों दिया होगा ?

उत्तर – भक्तिन का वास्तविक नाम लक्ष्मी था। लक्ष्मी अर्थात धन की देवी किंतु ऐश्वर्य और समृद्धि सूचक नाम के अनुरूप उनका जीवन नहीं था। अर्थात वह बेहद गरीब थी। इसलिए वह लोगों के ‘नाम बड़े दर्शन छोटे’ जैसी- कहावतों के उपहास से बचने के लिए अपना नाम छुपाती थी। लक्ष्मी नाम उसे उसके माता-पिता द्वारा दिया गया था। भक्तों को भक्ति नाम महादेवी वर्मा ने दिया क्योंकि भक्तिन ने गले में कंठी की माला पहन रखी थी। अतः लेखिका ने उसे लक्ष्मी के बदले वक़्त इन कहना उचित समझा।

बाजारुपन से क्या तात्पर्य है? किस प्रकार के व्यक्ति बाजार को सार्थकता प्रदान करते हैं ? अथवा बाजार की सार्थकता किसमें है ?

उत्तर – ‘बाजारुपन’ से तात्पर्य – खाली मन भरी जेब से बाजार जाने वाले वे लोग जिन्हें यही नहीं मालूम होता है कि उनकी जरूरत क्या है उन्हें क्या खरीदना है ऐसे लोग अपनी परचेसिंग पावर के गर्भ में गैर जरूरी वस्तुओं को खरीद कर बाजार का बाजार ओपन बढ़ाते हैं इससे बाजार में कपट बढ़ती है एक की हानि दूसरे का लाभ होता है निष्कपट शिकार हो जाता है सद्भाव की भावना खत्म हो जाती है भाई भाई और पड़ोसी के बीच ग्राहक और बेशक का संबंध हो जाता है यही बाजार ऊपर है।

बाजार की सार्थकता – बाजार की सार्थकता हमारी जरूरत की वस्तुओं को खरीदने में है इससे बाजार को लाभ होता है और उसका उद्देश्य पूरा होता है खरीददार को भी लाभ होता है अपनी जरूरत पूरा करके इस प्रकार जरूरत की वस्तुओं के आदान-प्रदान द्वारा ग्राहक और बेशक दोनों को सच्चा लाभ प्राप्त होता है जरूरतमंद लोग जिन्हें यह मालूम होता है कि बाजार में क्या खरीदना है वही लोग बाजार को सार्थकता प्रदान करते हैं।

प्रश्न 09 – द्विवेदी युग के लेखकों के नाम एवं उनकी प्रमुख रचनाएं लिखिए ?

उत्तर – द्विवेदी युग के लेखक एवं उनकी रचनाएं –

महावीर प्रसाद द्विवेदी – साहित्य संदर्भ, साहित्य सीकर, विचार विमर्श।

अध्यापक पुर्ण सिंह – सच्ची वीरता, आचरण की सभ्यता, मजदूर और प्रेम।

विषय के आधार पर निबंध को कितने भागों में विभाजित किया गया है नाम लिखकर संक्षिप्त में समझाइए ?

उत्तर –

प्रश्न 10 – पुरातत्व के किन चिन्हों के आधार पर आप यह कह सकते हैं कि “सिंधु सभ्यता ताकत से शासित होने की अपेक्षा समझ से अनुशासित सभ्यता थी।” इसका भाव स्पष्ट कीजिए ?

उत्तर – सिंधु सभ्यता ताकत से शासित होने की अपेक्षा समझ से अनुशासित सभ्यता थी क्योंकि अजायबघर में प्रदर्शित चीजों में औजार तो हैं पर हथियार कोई नहीं है मोहनजोदड़ो हड़प्पा से लेकर हरियाणा तक समूची सिंधु सभ्यता में हथियार उस तरह कहीं नहीं मिले हैं जैसे कि राजतंत्र में होते हैं यहां शासन और सामाजिक प्रबंध में अनुशासन था पर ताकत के बल पर नहीं दूसरी जगहों पर राजतंत्र या धर्म तंत्र की ताकत का प्रदर्शन करने वाले महल उपासना स्थल मूर्तियां और ब्राह्मण आदि मिलते हैं किंतु यहां ना भव्य राज प्रसाद मिले ना मंदिर ना राजाओं महंतों की समाधि या यहां के मूर्ति शिल्प छोटे हैं और औजार भी यहां के नरेश का मुकुट और नाम भी बनावट में अन्य देशों के आकार की तुलना में बहुत छोटी है।

नेहरू जी भारत के सभी किसानों से कौन सा प्रश्न बार-बार करते थे ?

उत्तर –

प्रश्न 11 – प्राचीन चित्रकला के प्रमाण कहां मिलते हैं ?

उत्तर –

मानवीकरण अलंकार किसे कहते हैं उदाहरण देकर समझाइए ?

उत्तर – छायावादी कविता में कवि प्रकृति प्रेम को अभिव्यक्त करने के लिए प्रकृति का मानवीकरण करते हैं‌। मानवीकरण छायावादी काव्य की प्रमुख विशेषता है। इसका अर्थ होता है – प्रकृति की हर वस्तु में मनुष्य की छाया देखना।

उदाहरण –

मेखला कार पर्वत अपार,

अपने सहस्त्र दश सुमन फाड़।

अवलोक रहा है बार-बार,

नीचे जल में निज महाकार।

जिसके चरणों में पला ताल, दर्पण सा फैला है विशाल।

Class 11 half yearly exam paper 2022 PDF

प्रश्न 12 – रस किसे कहते हैं ? रस के स्थाई भाव लिखिए ।

उत्तर –  काव्य में रस का अर्थ है ‘आनंद की प्राप्ति’ । कविता, कहानी, उपन्यास, नाटक आदि पढ़ने सुनने या देखने से पाठक को एक प्रकार के विलक्षण आनंद की अनुभूति होती है, उसे रस कहते हैं।

रस के स्थाई भाव –

रति, प्रेम

हंसी

क्रोध

भय

उत्साह

आश्चर्य

करुणा, शोक

घृणा

वैराग्य

स्नेह।

चौपाई की परिभाषा दीजिए एवं उदाहरण देकर समझाइए ?

उत्तर – चौपाई सम मात्रिक छंद है। इसमें 2 चरण होते हैं। प्रत्येक चरण में 16, 16 मात्राएं होती हैं। अंत में दो गुरु होते हैं।

उदाहरण –

रघुकुल रीति सदा चली आई।

प्राण जाइ पर वचन न जाई।।

प्रश्न 13 – चेजारो कुई की खुदाई के समय अपने सिर पर टॉप क्यों धारण करते हैं ?

उत्तर – 

भारत के विभिन्न राज्यों के लोक नृत्य में क्या क्या समानता है ?

उत्तर –

प्रश्न 14 – निम्नलिखित मुहावरों का अर्थ लिखकर मुहावरों का वाक्य में प्रयोग कीजिए ?

उत्तर –

कमर कसना – तत्पर होना।

प्रयोग – अगले हफ्ते में परीक्षा होगी तुम लोग कमर कस लो।

ईट का जवाब पत्थर से देना – जैसे को तैसा।

प्रयोग – राणा प्रताप ने अकबर को ईट का जवाब पत्थर से दिया।

उपसर्ग किसे कहते हैं कोई दो उदाहरण दीजिए ?

उत्तर – ‘उप’ का अर्थ होता है ‘समीप’ या ‘पास’ सर्ग का अर्थ है ‘सृष्टि करना’। इस तरह उपसर्ग के द्वारा नए शब्दों की सृष्टि की जाती है। जैसे — ‘जय’ शब्द के पहले ‘परा’ उपसर्ग रख देने से ‘पराजय’ शब्द की सृष्टि हुई। इसका अर्थ ‘जय’ से एकदम विपरीत है। इस प्रकार उपसर्ग उस शब्दांश को कहा जाता है। जो किसी शब्द के पहले लगकर शब्द की रचना करता है।

उदाहरण –

अनु – अनुशासन, अनुकरण

अप – अपमान, अपहरण

प्रश्न 15 – निम्नलिखित वाक्यांशों का एक शब्द में उत्तर दीजिए ?

जिसका कोई शत्रु नहीं जन्मा हो।

जो नष्ट ना हो सके।

उत्तर –

जिसका कोई शत्रु नहीं जन्मा हो – अजातशत्रु

जो नष्ट ना हो सके – शाश्वत

निम्नलिखित वाक्यों को शुद्ध कीजिए ?

हमारी अध्यापिका विद्वान है।

पत्र यह किसने लिखा है?

उत्तर – 

हमारी अध्यापिका विदुषी है।

यह पत्र किसने लिखा है ?

प्रश्न 16 – रहस्यवाद का क्या अर्थ है ? इसकी प्रमुख विशेषताएं लिखिए ।

उत्तर –

रहस्यवाद का अर्थ – छिपी हुई बात, अतः रहस्यवाद का अर्थ हुआ, वह बाद (विचारधारा) जिसका मूलाधार छिपा हुआ है, अज्ञात है। विश्व का सबसे बड़ा रहस्य परमेश्वर है, वही सर्वोच्च सत्ता है। उस परमेश्वर या परमात्मा के प्रति व्यंजित प्रेम साहित्य में रहस्यवाद कहलाता है।

रहस्यवाद की विशेषताएं –

प्रेम की व्यंजना – रहस्यवादी कवि आलोक एक प्रेम की अभिव्यंजना करते हैं बे प्रेम अनुभूति की अभिव्यक्ति कई रूपों में करते हैं।

अध्यात्मिक तत्वों की प्रधानता – आध्यात्मिक तत्वों की अभिव्यंजना भी रहस्यवाद की प्रवृत्ति है।

यथा —

जल में कुंभ में जल है,

बाहर भीतर पानी।

फूटा कुंभ जल जलहीं समाना,

यथ तत कथ्यो ज्ञानी।।

रहस्यवादी कविता – रहस्यवादी कविता में विस्मय, जिज्ञासा तथा मिलना अनुभव की अभिव्यंजना की जाती है।

प्रयोगवाद की विशेषताएं लिखिए ? प्रयोगवादी तीन कवियों के नाम एवं उनकी रचनाएं लिखिए ?

उत्तर –

प्रश्न 17 – मौखिक संचार का क्या आशय है ?

सर्वग्राही काल की मार से बचते हुए वहीं दीर्घ जीवी हो सकता है, जिसने अपने व्यवहार से जड़ता छोड़कर नित बदल रही स्थितियों में निरंतर अपनी गतिशीलता बनाए रखी है। पाठ के आधार पर स्पष्ट कीजिए।

उत्तर –

प्रश्न 18 – तकनीकी शब्द किसे कहते हैं ? कोई तीन उदाहरण दीजिए ।

उत्तर – तकनीकी शब्द अंग्रेजी के टेक्निकल शब्द का ही हिंदी पर्याय है। टेक्निकल शब्द ग्रीक भाषा के Technikoi (काला विषयक) से ग्रसित किया गया है। टेक्नी से तात्पर्य है कला तथा शिल्प। ग्रीक भाषा में टेक्टोन शब्द का अर्थ निर्माण करने वाला अथवा बढ़ाई के अर्थ में प्रयुक्त होता है। लेकिन भाषा में टेक्चर शब्द का अर्थ है बुनना या बनाना। इस संदर्भ में अर्थ हुआ —

तकनीकी शब्द का शब्द है शब्द है जो किसी निर्मित अथवा खोजी गई वस्तु अथवा विचार को व्यक्त करता हो। कोष ग्रंथों के अनुसार तकनीकी शब्द किसी ज्ञान विज्ञान के विशेष क्षेत्र में एक विशिष्ट तथा निश्चित अर्थ में प्रयुक्त किया जाता है ।

उदाहरण –

लेखापाल –  accountant

अभिकर्ता – agent

जनसंख्या – population

जनगणना – Census

राजभाषा और राष्ट्रभाषा किसे कहते हैं ?

उत्तर –

राजभाषा – राजभाषा और राष्ट्रभाषा यह दोनों शब्द मिलते-जुलते हैं पर इनमें सामान्य और पारिभाषिक शब्द भिन्न है अंग्रेजी में इनको ऑफिशियल लैंग्वेज और नेशनल लैंग्वेज कहते हैं राजभाषा सरकारी कामकाज की भाषा और भारतीय संघ की भाषा है भारत का संविधान बनाते समय हिंदी को राजभाषा माना गया 7 राज्यों में हिंदी राजभाषा है शेष राज्यों में अपनी अपनी प्रदेशों की भाषाएं हैं हिंदी संस्कृत कश्मीरी किसी भी राज्य की राजभाषा नहीं है।

राष्ट्रभाषा – प्रत्येक स्वतंत्र राष्ट्र की एक सर्व सम्मत राष्ट्र भाषा होती है राष्ट्रभाषा में राष्ट्र की संस्कृति साहित्य और इतिहास की प्रेरणा होती हैं जो जीवन की प्रभाव जीवन को प्रभावित करती हैं बहुभाषी देशों में सभी भाषाओं को समान सम्मान मिलता है लेकिन वहां संपर्क की एक ही भाषा होती है जो राष्ट्र भाषा कहलाती है देश के विभिन्न प्रदेश अपने प्रदेश में अपनी भाषा का प्रयोग कर रहे हैं किंतु जहां संपूर्ण राष्ट्र का प्रश्न आता है वहां पे अपनी राष्ट्र भाषा का ही प्रयोग करते हैं स्वतंत्रता प्राप्ति के पश्चात भारतीय संविधान में हिंदी को राष्ट्रभाषा का पद दिया गया है।

प्रश्न 19 – अपठित गद्यांश को पढ़कर नीचे लिखें प्रश्नों के उत्तर दीजिए ?

आज हमें विनम्रता की भावना की आवश्यकता है हमें यह सुख त्याग देना चाहिए कि हम ठीक हैं और हमारे विरोधी गलत हैं या यह कि हम जानते हैं कि हम पूर्ण नहीं है परंतु निश्चित रूप से अपने शत्रुओं से अच्छे हैं बरसों से सामूहिक वध देखते देखते हम नेटवर्क हो गए हैं और भयानक अदाओं को देख देख कर कठोर हो गए हैं बहुत उन्नत राष्ट्रों में बड़ी मात्रा में बर्बरता और बहुत पिछड़ी हुई जातियों में भी सभ्यता का काफी बड़ा अंश है एक जमाने में सभ्यताएं बाहर से बर्बरो द्वारा नष्ट कर दी गई थी हमारे समय में इस बात की संभावना है कि अंदर से उन पर वरुण द्वारा नष्ट कर दी जाएं जिन्हें हम पैदा कर रहे हैं प्रौद्योगिकी ए क्रांति की जोड़ी की एक नैतिक क्रांति करनी पड़ेगी हमें नूतन मानवीय संबंधों का विकास करना ही पड़ेगा और राष्ट्रों की बौद्धिक संघटना तथा नैतिक एक कप को प्रोत्साहित करना ही होगा सरकार को भी एक है बे एक अंतकरण एक भावना की हम सब जाती एवं वर्ग के बंधनों से परे एक ही बिरादरी के सदस्य हैं का विकास करना चाहिए यदि विश्व निष्ठा की भावना बढ़ानी है तो हमें जीवन की दूसरी परंपराओं से गुण ग्रहण की व्यक्ति पैदा करनी होगी यह देश बहुत दिनों से अनेक संस्कृतियां शायद बड़े हिंदू बौद्ध यहूदी पारसी मुसलमानी और किश्ती का मिलन चल रहा है आज सब सब तारिक उड़ता जा रहा है तो सभी जातियों एवं संस्कृतियों के इतिहास हमारे अध्यन के विषय बनी चाहिए यदि हम एक दूसरे को ज्यादा अच्छी तरह जान चाहते हैं तो हमें अपने लाओ की भर्ती और बड़प्पन की भावना छोड़ देने चाहिए और मन लेनी चाहिए कि दूसरी संस्कृतियों के दृष्टिकोण भी उतनी ही उचित है और उनका प्रभाव भी उतना ही शक्तिमान है जितना हमारा है मानव जाति के इतिहास की इस संकट कॉल में हमें मानवीय प्रकृति को पुन्हा नूतन धन पर गठित करने की आवश्यकता है इस संबंध में प्राय पाश्चात्य बौद्ध के लिए यूनेस्को को मूल्यवान कार्य कर रहा है उसकी हम प्रशंसा करते हैं।

प्रश्न —

वर्तमान समय में लोग अधिक नेटवर्क और कठोर क्यों हो गए हैं ?

उन्नत राष्ट्रों और पिछड़ी जातियों में क्या अंतर है ?

नैतिक एक के किस प्रकार स्थापित कर सकते हैं ?

सरकारों को क्या प्रयास करना चाहिए ?

गद्यांश का उचित शीर्षक लिखिए।

उत्तर –

प्रश्न 20 – हरिवंश राय बच्चन एवं शमशेर बहादुर सिंह किसी एक कवि का परिचय निम्नलिखित बिंदुओं के आधार पर कीजिए —

जन्म स्थान

रचनाएं

भाषा शैली

साहित्य में स्थान ।

प्रस्तुत पद्यांश की संदर्भ प्रसंग सहित व्याख्या कीजिए —

“कविता एक खेलना है फूलों के बहाने।

कविता का खिलना भला फूल क्या जाने।

बाहर भीतर इस घर उस घर,

बिना मुरझाए महकने के माने फुल क्या जाने”

उत्तर –

प्रश्न 21 – निम्नलिखित में से किसी एक लेखक का परिचय लिखिए ?

जैनेंद्र कुमार

हजारी प्रसाद द्विवेदी

उत्तर –

लेखक ने पाठ में संकेत किया है कि कभी-कभी बाजार में आवश्यकता ही शोषण का रूप धारण कर लेती है। क्या आप इस विचार से कहां तक सहमत हैं ? तर्क सहित उत्तर दीजिए।

उत्तर –

प्रश्न 22 – विद्यालय में खेलकूद की सामग्री की समुचित व्यवस्था करने हेतु प्राचार्य को एक प्रार्थना पत्र लिखिए ?

उत्तर –

समय के सदुपयोग और परिश्रम पर बल देते हुए छोटे भाई को पत्र लिखिए ?

उत्तर –

प्रश्न 23 – किसी एक विषय पर निबंध लिखिए —

जल ही जीवन है

साहित्य और समाज

मन के हारे हार मन के जीते जीत

प्रदूषण की समस्या

Leave a Comment