Matric Sent up exam 10th social science Question Paper 2022

JOIN

Matric Sent up exam 10th social science Question Paper 2022| Bseb 10 class Social science matric sent up exam paper 2023

matric class 10 social science sent up exam 2023– Hello friends welcome to our blog and in this post you will see that the, Bseb class 10 social science sent up exam 2023, Bseb matric sent up exam social science question paper 2022

How to download Class 10 sent up exam social science question paper 2022

You can download the pdf of Bseb social science matric sent up exam question paper, Class 10 sent up exam social science question paper with answer, Class 10 sent up exam social science subjective question

Bseb social science matric sent up exam question paper 2023 PDF

If you want to download Bihar board matric sent up exam 2022, Bseb class 10 sent up exam 2023 Bseb matric sent up exam question paper 2022
Class 10 sent up exam social science question paper so you can download the pdf

Class 10 sent up exam social science question paper with answer

Bihar Board Matric Sent Up Exam 2023
Subjective and objective Questions

10th social science sent up exam paper 2022

Bseb sanskrit matric sent up exam question paper class 10 social science

Class 10 social science sent up exam question paper 2022

Social science sst objective and subjective class 10 sent up exam 2022

Bihar board class 10th matric sent up exam question paper 2022

Sent Up Exam 2022 Question Paper
Sent Up Exam 2022 Question Paper Science
Sent up Exam 2022 Question Paper English
Sent Up Exam 2022 Question Paper Math
Sent Up Exam 2022 Question Paper maths
Sent Up Exam 2023 Science
Sent Up Exam 2022 Question Paper Hindi Subjective
Sent up exam 2022 question paper english

Bihar Board Matric Sent Up Exam 2023
Social Science (सामजिक विज्ञान ) answer key

Bihar Board Matric Sent Up Exam 2022-23 Social SCIENCE

सामाजिक विज्ञान
Subjective Questions

खण्ड-ब
(ष्ठ प्रश्न)
उत्तरीय प्रश्न
इतिहास
( Q. 1) उत्तर औद्योगिकरण ने स्लम पद्धति की शुरुआत की।
औद्योगीकरण के फलस्वरूप जब मिल मालिकों द्वारा मजदूरों का
शोषण होने लगा तो उनकी स्थिति दयनीय होती गयी जिससे वे
सुविधाविहीन घरों में रहने को बाध्य हो गये, जिसे स्लम कहा
जाने लगाए
मजदूर व किसान वर्ग को साम्यवादी विचारधारा में
सर्वहारा वर्ग कहा जाता है। भूमिहीन किसान एवं आदिवासी वर्ग
ही सर्वहारा श्रेणी में आते हैं।
(Q.4) उत्तर- जेनेवा समझौता मई, 1954 ई० में हिन्द-चीन समस्या पर
वार्ता हेतु बुलाये गये सम्मेलन में हुआ। इसमें वियतनाम को दो हिस्सों में
बाँट दिया गया तथा ताओस तथा कम्बोडिया में वैध राजतंत्र को
स्वीकार कर संसदीय शासन प्रणाली को अपनाया गया।
(Q.7) उत्तर-
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
उत्तर–जर्मनी के एकीकरण में सबसे महत्त्वपूर्ण
भूमिका बिस्मार्क की रही उसने सुधार एवं कूटनीति के
अंतर्गत जर्मनी के क्षेत्रों का प्रशाकरण अथवा प्रशा का
एकीकरण करने का प्रयास किया। वह प्रशा का
चांसलर था। वह मुख्य रूप से युद्ध के माध्यम से
एकीकरण में विश्वास रखता था। इसके लिए उसने
रक्त और लौह की नीति का पालन किया। इस नीति से
तात्पर्य था कि सैन्य उपायों द्वारा ही जर्मनी का एकीकरण
करना। उसने जर्मनी में अनिवार्य सैन्य सेवा लागू
दी।
जर्मनी के एकीकरण के लिए बिस्मार्क
(i) पहला उद्देश्य प्रशा को एक
जर्मनी के एकीकरण को
(ii) दूसरा उद्देश्य आस्ि
निकालना था।
(iii) तीसरा उद्देश्य
सर्वप्रथम उसने
बिस्मार्क ने आस्ट्रिया
एवं
को एक शक्तिशाली राष्ट्र बनाना था।
आस्ट्रिया से साँध कर डेनमार्क पर अंकुश लगाया।
साथ मिलकर 1864 में श्लेसविंग और हाल्सटाइन राज्यों
के मुद्दे लेकर डेनमार्क पर आक्रमण कर दिया। जीत के बाद श्लेसविंग प्रशा के
तथा हाल्सयेशन आस्ट्रिया के अधीन हो गया। डेनमार्क को पराजित करने के बाद
उसका मुख्य शत्रु आस्ट्रिया था। बिस्मार्क ने यहाँ भी कूटनीति के अंतर्गत फ्रांस से
साँध कर 1866 में सेहोवा के युद्ध में आस्ट्रिया को पराजित किया और पोप के
अधिकार वाले सारे क्षेत्र को जर्मनी में मिला लिया। अंतत: 1870 में सेडान के युद्ध
में फ्रांस को पराजित कर फ्रैंकफर्ट की संधि की गई और फ्रांस की अधीनता वाले
सारे राज्यों को जर्मनी में मिलाकर जर्मनी का एकीकरण पूरा हुआ।
फ्रांस
के
(Q.13) उत्तर-
| उद्देश्य
तशाली राष्ट्र बनाकर उसके नेतृत्व में
करनी

राजनीती विज्ञान- लघु उत्तरीय प्रश्न
(Q.9) उत्तर- ऊर्ध्वाधर वितरण में सत्ता को सरकार के विभिन्न
स्तरों के बीच विभाजित किया जाता है जो कि केंद्र सरकार राज्य
परास्त कर उसे जर्मन परिसंघ के बाहर
सरकार स्थानीय सरकार है। सत्ता के क्षैतिज वितरण में शक्ति
विधायी कार्यपालिका और न्यायपालिका के बीच विभाजित है।
( Q. 10) उत्तर संविधान की अनुसूची 7 की सूची 3 का
नाम समवर्ती सूची है, इसमे 52 प्रविष्टियां हैं संविधान का
संशोधन करके 5 प्रविष्टियों को समवर्ती बनाया गया है। यह है
न्याय प्रशासन, जनसंख्या नियंत्रण, बाट और माप, वन और
शिक्षा आदि। संघ और राज्य दोनों ही इन प्रविष्टियों पर विधि
बनाने में सक्षम है।
उत्तर-
संघीय शासन की निम्नलिखित
(i) संघीय शासन व्यवस्था
विभिन्न इकाइयों के
(ii) संघीय व्यवस्था में दोहरी
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
में सर्वोच्च सता
बीच वैद जाती
सरकार
केन्द्र सरकार और उसकी
है।
होती है, एक केन्द्रीय स्तर की

सरकार जिसके अधिकार में राष्ट्रीय महत्त्व के विषय होते हैं तथा
दूसरे स्तर पर या क्षेत्रीय सरकारें होती हैं जिनके अधिकार
क्षेत्र
में स्थानीय महत्त्व के विषय होते है।
(iii) प्रत्येक सार की सरकार अपने क्षेत्र में स्वायत्त होती है और अपने-
अपने कार्यों के लिए लोगों के प्रति जवाबदेह या उत्तरदायी होती है।
(iv) अलग-अलग स्तर की सरकार एक ही नागरिक समूह पर शासन
करती है।
(v) नागरिकों की दोहरी पहचान एवं निष्ठाएँ होती है। वे अपने क्षेत्र
के भी होते हैं और राष्ट्र के भी
(vi) दोहरे स्तर पर शासन की विस्तृत व्यवस्था एक लिखित संविधान
के द्वारा की जाती है।
(vil) विभिन्न स्तरों की सरकारों के अधिकार संविधान में स्पष्ट रूप
से लिखे रहते है। इसलिए यह दोनों सरकारों के अधिकारों और
शक्तियों का मूल स्त्रोत होता है।
(viii) संविधान के मूल प्रावधानों को किसी एक स्तर को सरकार अकेले
नहीं बदल सकती है।
अर्थशास्त्र – लघु उत्तरीय प्रश्न
(Q.15) उत्तर किसी एक देश की कंपनी का दूसरे देश में किया
गया निवेश प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) कहलाता है। ऐसे निवेश
से निवेशकों को दूसरे देश की उस कंपनी के प्रबंधन में कुछ
हिस्सा हासिल हो जाता है जिसमें उसका पैसा लगता है।
(Q.17) उत्तर आधारिक संरचना का मतलब उन सुविधाओं तथा
सेवाओं से हैं जो देश के आर्थिक विकास के लिए सहायक होते हैं।
सभी तत्व, जैसे बिजली, परिवहन, संचार,
स्कूल कॉलेज,
अस्पताल आदि देश के आर्थिक विकास आधार हैं, उन्हें देश
का आधारिक संरचन (आधारभूत ढाँचा) कहा जाता है। किसी देश
के आर्थिक विकास में आधार संरचना का महत्वपूर स्थान होता
हैं। जिस देश का आधारभूत
वह देश उतना ही अधिक विकसित होगा।
जितना अधिक विकसित होगा,
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
(Q.20) उत्तर

परिणाम है। प्रो मेयर
उत्तर आर्थिक
एवंद ने
द्वारा दीर्घकाल में किसी
आर्थिक नियोजन
आर्थिक विकास एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके
अर्थव्यवस्था की वास्तविक राष्ट्रीय आय में वृद्धि
की दर तथा दूसरी ओर जनसंख्या वृद्धि के बीच स्थापित संबंध है।
इस प्रकार, आर्थिक विकास एक परिवर्तन एवं बदलाव की प्रक्रिया है
जो अर्थव्यवस्था के ढाँचे को बदल डालती है। परिणामतः प्रति व्यक्ति आप
बदल जाती है तथा आर्थिक विकास के निर्धारक बदल जाते हैं।
साहित्यिक दृष्टि से विकास एवं वृद्धि में कोई फर्क नहीं है। अर्थशास्त्र
विकास एवं वृद्धि में फर्क करता है। अर्थशास्त्री हिक्स एवं डॉ ब्राईट सिहि
ने वृद्धि शब्द का प्रयोग आर्थिक दृष्टि से विकसित राष्ट्रों के संबंध में किया
है, जबकि विकास शब्द का प्रयोग अविकसित अर्थव्यवस्था के संदर्भ में
किया है। मैड्डीसन ने भी धनी राष्ट्रों के संदर्भ में आर्थिक वृद्धि तथा विपन्न
राष्ट्रों के लिए विकास शब्द के प्रयोग की बात की।
विकास
कहा कि
भूगोल-लघु उत्तरीय प्रश्न
(Q.21) उत्तर खनिज एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला
अकार्बनिक तत्व या यौगिक है जिसमें एक व्यवस्थित आंतरिक
संरचना और विशिष्ट रासायनिक संरचना, क्रिस्टल रूप और
भौतिक गुण होते हैं। सामान्य खनिजों में क्वार्ट्ज, फेल्डस्पार,
अभ्रक, उभयचर, ओलिविन और कैल्साइट शामिल हैं।
(Q.22) उत्तर- लौह अयस्क उत्पादन में भारत के शीर्ष
चार राज्य क्रमशः उड़ीसा, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और झारखंड हैं।
भारत में लौह अयस्क का उत्पादन करने
प्रमुख राज्य मध्य प्रदेश, गोवा, महाराष्ट्र,
राजस्थान और तमिलनाडु हैं।
(Q. 23) उत्तर नाभिकीय तथा
ठण्डा करने के बाद, गर्म
जलीय तंत्र का तापमान
अन्य शब्दों मे,
पारिस्थितिकी
तापीय ऊर्जा केन्द्रो की मशीनो को
जल को पुनः जलीय तंत्र मे डाल देने से
बढ़ जाता है, इसे तापीय प्रदूषण कहते हैं।
के प्रभाव से जलीय या वायुमंडलीय
ताप
तंत्र में प्रभावी परिवर्तन ताप-प्रदूषण कहलाता है।
दीर्घ उत्तरीय प्रश्न
अन्य
आंध्र प्रदेश, केरेला,

(Q.31) उत्तर-
उत्तर- विगत वर्षों में भारतीय अर्थव्यवस्था के वैश्वीकरण ने एक लम्बी
दूरी तय की है। इसके प्रभाव को निम्नलिखित रूप में समझा जा सकता है।
(1) वैश्वीकरण और उत्पादकों-स्थानीय और विदेशी दोनों के बीच
बृहतर प्रतिस्पर्धा से उपभोक्ताओं को लाभ हुआ है।
(ii) आज उपभोक्ताओं के समक्ष पहले से अधिक विकल्प है और वे
अब अनेक उत्पादों की उत्कृष्ट गुणवत्ता और कम कीमत से
लाभान्वित हो रहे हैं।
जिससे रोजगार
(iii) वैश्वीकरण के कारण देश में विदेशी कम्पनियों के निवेश बढ़े हैं।
नए-नए करखाने, फैक्ट्रियों आदि स्थापित हुए हैं
में वृद्धि हुई है।
(iv) आज भारत में उत्पादित माल का निर्यात बढ़ा है,
उद्यम भी लाभान्वित हो रहे हैं।
छोटे-छोटे
(v) वैश्वीकरण के कारण आज कई सेवा प्रदाता कम्पनियों की इकाईयाँ
भारत में स्थापित हुई हैं जिससे
लोगों का आर्थिक जीवन भी
रोजगार की वृद्धि के साथ-साथ
हुआ है।
आपदा
प्राथमिक
करन
लघु उत्तरीय प्रश्न
आग लगने
में सबसे पहले आग में हुए लोगों को बाहर
निकालय एवं तत्काल प्राथमिक उपचार देकर अस्पताल पहुंचाना
उपचार में पानी डालना, वर्षा से सहलाना, चरनील आदि का उपयोग
को रोकना बालू मिट्टी एवं तालाब के जल का उपयोग
मिली से आग लगी हो तो सबसे पहले बिजली का तार काटना

(Q.32) उत्तर-
उत्तर-आपदा के समय संचार व्यवस्था बाधित होने के प्रमुख कारण |
निम्नलिखित हैं-
(i) केबल के क्षतिग्रस्त होने से
(ii) ट्रान्समिशन टावर के ध्वस्त होने से।
(iii) बिजली की आपूर्ति बाधित होने से।
(iv) केन्द्रीयकृत संचार भवनों के क्षतिग्रसत हो जाने से

Leave a Comment